मसीह हमारा नबी

 

मसीह हमारे लिए वो सब कुछ है जिसकी हमको जरुरत है और अनंत और भी। मेरे दुसरे लेख https://logosinhindi.com/प्रभु-यीशु-मसीह-हमारा-सब-क/ में आप 28 वो चीज़ें पढ़ सकते हैं जो मसीह हमारे लिए हैं। इस लेख में मैं उनमे से सिर्फ एक के बारे में थोड़ा विस्तार से बताना चाहता हूँ।

मसीह हमारा नबी: आइये चार्ल्स स्पर्जन प्रश्नोत्तरी प्रश्न 23 और उसके उत्तर को पढें:

मसीह नबी के कार्य को कैसे निष्पादित करता है?
मसीह नबी के कार्य को हमारे उद्धार के लिए परमेश्वर की इच्छा को अपने वचन (यूहन्ना 20:31) और आत्मा (यूहन्ना 14:26) के द्वारा हम पर प्रकट करने के द्वारा (यूहन्ना 1:18) निष्पादित करता है।

नबी का कार्य होता है परमेश्वर की और उसकी बातों की घोषणा करना। वैसे तो बाइबल में बहुत से नबी आये, पर प्रभु यीशु मसीह परमेश्वर का सबसे बड़ा नबी और अंतिम और सिद्ध प्रकाशन है (इब्रानियों 1:1)। ऊपर दिए गए विश्वासयोग्य उत्तर में हम तीन चीज़ें पाते हैं।

1) प्रभु यीशु मसीह स्वयं परमेश्वर का उद्धार और प्रकाशन है:

परमेश्‍वर को किसी ने कभी नहीं देखा, एकलौता पुत्र जो पिता की गोद में है, उसी ने उसे प्रगट किया। (यूहन्ना 1:18)

कोई पिता को नहीं जानता, केवल पुत्र; और वह जिस पर पुत्र उसे प्रगट करना चाहे। (मत्ती 11:27) 

यीशु ने उससे कहा, “मार्ग और सत्य और जीवन मैं ही हूँ; बिना मेरे द्वारा कोई पिता के पास नहीं पहुँच सकता। (यूहन्ना 14:6)

परमेश्वर को कभी किसी ने नहीं देखा, उसका अनादि पुत्र प्रभु यीशु मसीह ही उसका प्रकाशन है और उसी में उद्धार है।

 

2) प्रभु यीशु मसीह हमारे उद्धार के लिए वचन के द्वारा हमे प्रकाशन देता है :

परन्तु ये इसलिये लिखे गए हैं कि तुम विश्‍वास करो कि यीशु ही परमेश्‍वर का पुत्र मसीह है, और विश्‍वास करके उसके नाम से जीवन पाओ। (यूहन्ना 20:31)

उद्धार पाने के लिए यीशु मसीह पर विश्वास करना अवश्य है, और ये विश्वास हम में वचन के द्वारा उत्पन्न होता है:

विश्‍वास सुनने से और सुनना मसीह के वचन से होता है। (रोमियों 10:17)

 

3) प्रभु यीशु मसीह ने अपने पवित्र आत्मा के द्वारा हमें प्रकाशन दिया (Revelation) और और पवित्र आत्मा इन प्रकाशनों के प्रति हमारी आँखें खोल देता है (Illumination):

परन्तु सहायक अर्थात् पवित्र आत्मा जिसे पिता मेरे नाम से भेजेगा, वह तुम्हें सब बातें सिखाएगा, और जो कुछ मैं ने तुम से कहा है, वह सब तुम्हें स्मरण कराएगा। (यूहन्ना 14:26)

मुझे तुम से और भी बहुत सी बातें कहनी हैं, परन्तु अभी तुम उन्हें सह नहीं सकते। परन्तु जब वह अर्थात् सत्य का आत्मा आएगा, तो तुम्हें सब सत्य का मार्ग बताएगा, क्योंकि वह अपनी ओर से न कहेगा परन्तु जो कुछ सुनेगा वही कहेगा, और आनेवाली बातें तुम्हें बताएगा। वह मेरी महिमा करेगा, क्योंकि वह मेरी बातों में से लेकर तुम्हें बताएगा। जो कुछ पिता का है, वह सब मेरा है; इसलिये मैं ने कहा कि वह मेरी बातों में से लेकर तुम्हें बताएगा। (यूहन्ना 16:12-15)

पुराने नियम में मसीह हमारे उद्धार के लिए भविष्यवक्ताओं के द्वारा बातें कर रहा था। पृथ्वी पर आने पर प्रभु यीशु मसीह ने बहुत सी बातें बताई, परन्तु कलीसियाई युग के बारे में सब कुछ नहीं बताया था और जो बातें बताई थी वे भी अभी तक लिखी नहीं गई थीं। अपनी कुछ नई बातों को उसने पवित्र आत्मा के द्वारा बताया और पुरानी और नई दोनों बातों को पवित्र आत्मा के द्वारा पवित्रशास्त्र के रूप में लिखवाया। जब बाइबल पूरी हो गई तो छाप लग गई की अब कुछ जुड़ेगा नहीं और घटेगा नहीं (प्रकाशित वाक्य 22:18)। पवित्र आत्मा अब नए प्रकाशन नहीं देता, पर जो उसने लिखवाया है उसको जब हम सुनते या पढ़ते हैं, तो उन बातों को हम पर लिखे हुए वचन के द्वारा हम पर प्रकट कर देता है या हमारी आंखें उनको समझने के लिए खोल देता है (Illumination)।

निष्कर्ष:

मसीह नबी के कार्य को हमारे उद्धार के लिए परमेश्वर की इच्छा को अपने वचन (यूहन्ना 20:31) और आत्मा (यूहन्ना 14:26) के द्वारा हम पर प्रकट करने के द्वारा निष्पादित करता है, परन्तु इस महानतम नबी के बारे में महानतम बात यह है कि यह स्वयं परमेश्वर का प्रकाशन और उद्धार है ।

वह उसकी महिमा का प्रकाश और उसके तत्व की छाप है, और सब वस्तुओं को अपनी सामर्थ्य के वचन से संभालता है। वह पापों को धोकर ऊँचे स्थानों पर महामहिमन् के दाहिने जा बैठा। (इब्रानियों 1:3)

1 comment

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *